क्रांति समय समाचार
देश बड़ी खबरें सूरत सोशल मिडिया वायरल

नवरात्रि में धूम मचाएंगे बुलेट ट्रेन, स्वच्छता मिशन और सेव लायन के टेटू

सूरत। साल भर से जिस पर्व की लोग खासकर युवा वर्ग प्रतीक्षा करता है, वह पर्व नवरात्रि कल से प्रारंभ हो रहा है। साधना और उपासना के पर्व नवरात्रि पर्व की तैयारियां अंतिम दौर में है। नवरात्रि पर्व के दौरान लोगों में अनोखा आकर्षण बनाने के लिए युवा वर्ग हमेशा कुछ नया करने का प्रयास करता है।

पिछले कई वर्षों से देशभर में टेटू का क्रेज बढ़ता जा रहा है, जिससे गुजरात का युवा वर्ग भी पीछे नहीं है। नवरात्रि महोत्सव के दौरान युवा वर्ग बाजु, पीठ इत्यादि पर टेटू बनवाते हैं और दांडिया रास में शामिल होते हैं। हर साल टेटू के जरिए नया संदेश देने का प्रयास किया जाता है। जारी वर्ष में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट बुलेट ट्रेन टूटे के स्वरूप में युवा वर्ग के बाजुओं पर नजर आएगी। इसके अलावा गिर अभ्यारण्य में शेरों की मौत को लेकर सेव लायन, पीएम मोदी का मेक इन इंडिया और स्वच्छता मिशन समेत दहेज-घोघा रो रो फेरी सर्विस के टेटू युवा वर्ग अपने शरीर पर गुदवा रहा है।

केवल युवक ही नहीं बल्कि युवतियां भी टेटू गुदवाने पर हजारों रुपए खर्च करने से पीछे नहीं हटते। सामान्य टेटू बनाने का रु. 200 से रु. 1000 तक चार्ज लगता है, जबकि स्थायी टेटू का चार्च रु. 1000 से लेकर रु. 25000 है7 मौजूदा दौर में डिजाइनिंग टेटू, थ्रीडी टेटू, पोट्रेट एवं पुराने टेटू पर कवर अप करने का प्रमाण बढ़ा है। भारतीय परंपरा में भगवान, ओम, कृष्णा, त्रिशूल इत्यादि का प्रमाण बढ़ा है। इस साल युवतियों में स्टीकर और कलर टेटू जिसमें सेव लायन होट फेवरिट है। क्योंकि स्टीकर टेटू एक सप्ताह चलता है और नवरात्रि के दौरान हर दिन वेशभूषा के मुताबिक स्पार्कल या फेब्रिक कलर से चेंज भी किया जा सकता है। जबकि युवकों में जरीवाले स्टीकर टेटू इन डिमांड में है। युवक अपने बाजु, बाय शेप, ट्राय शेप टेटू बनवाते हैं या स्टीकर लगवाते हैं। कई लोग गले पर स्टीकर टेटू लगवाते हैं। युवतियां कपाल पर बिंदी के बजाए जरदोशी या डायमंड वर्कवाला टेटू लगाना पसंद करती हैं।

Related posts

नोटबंदी पर राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित

SURESH

सुरत के मनपा सफाई व्यवस्था पर जताई नाराजगी आयुक्त ने

SURESH

शेखपुरा- माउर गांव में चोरों ने किया लाखों पर हाथ साफ

SURESH
WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com